Referral code kya hota hai और Referral Code Kaise Banaye 2021

Referral code और Referral link क्या होते हैं?

रेफरल कोड एक ट्रैकिंग कोड होता है, कभी-कभी आपके व्हाट्सएप पर एक लिंक भेजा जाता है जिससे आपको कोई ऐप इंस्टॉल करने के लिए कहा जाता है। जब आप उस लिंक से उस ऐप इंस्टॉल करते हैं तो, ऐप में रेफरल कोड की जगह पर एक कोड अपने आप ही आ जाता है इसी कोड को को रेफरल कोड कहते हैं। और इस लिंक को रेफरल लिंक कहते हैं।

आपने एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में जरूर सुना होगा रेफरल कोड से होने वाला मार्केटिंग भी एक तरह का एफिलिएट मार्केटिंग ही है जिसमें कंपनियां रेफर एंड अर्न और इनवाइट एंड अर्न प्रोग्राम चलाती है जिसमें रेफर करने वाले और रेफर होने वाले दोनों ही लोगों को कुछ award या धनराशि दी जाती है।

रेफरल कोड कैसे बनाते हैं?

रेफरल कोड बनाने के लिए सबसे पहले आपको app को इंस्टॉल करके उसमें लॉगिन हो जाना है उसके बाद आपको menu में एक ऑप्शन ढूंढना है जिसका नाम रेफर एंड अर्न या इनवाइट एंड अर्न हो सकता है, इसी में आपको रेफरल कोड या रेफरल लिंक मिलेगा।

100 रुपये reward देने वाले कुछ apps के list देखे।

referral code kya hota hai

300 रुपये reward देने वाले कुछ apps के list देखे।

1000 रुपये reward देने वाले कुछ apps के list देखे।

google pay referral code kya hota hai

Referral code kya hota hai और इसके क्या फायदे हैं?

रेफरल कोड की मदद से आप आसानी से पैसे कमा सकते हैं। रेफरल कोड से हर यूजर को कुछ न कुछ मिलता है इसलिए आपका कोड हजारों लोगों तक पहुंच सकता है और आप काफी पैसे कमा सकते हैं।

इस के साथ ही यह मार्केटिंग करने का एक शानदार तरीका है जो कम से कम खर्च में ज्यादा से ज्यादा उपभोक्ता को जोड़ा जाता है। मार्केट में अक्सर नए-नए एप्स आते हैं जो रेफर एंड अर्न का ऑप्शन देती है। यह अवसर सबके लिए है इसीलिए इससे कोई भी व्यक्ति पैसे कमा सकता है।

रेफरल कोड की क्या जरूरत है?

रेफरल कोड बहुत जरूरी है क्योंकि इसी से कंपनियों को पता चलता है कि Referral code कितने लोगों तक रेफर हुआ है और रेफर करने वाला कौन है। इसी के मदद से कंपनियां उपयोगकर्ताओं को उपहार स्वरूप धनराशि या कोई free सर्विस प्रदान करती है। इसी की सहायता से कंपनियां अपने सेल या यूजर्स की संख्या बढ़ा सकती है।

रेफरल कोड से पैसे कैसे कमाए।

रेफरल कोड से पैसे कमाने के लिए सबसे पहले आपको अपना रेफरल लिंक और रेफरल कोड को जनरेट कर लेना है। इसके बाद इस लिंक को आपको व्हाट्सएप पर ज्यादा से ज्यादा लोग तक शेयर करना है और उन्हें इंस्टॉल करने के लिए आग्रह करना है, इसके साथ ही आपको यह भी बताना है कि इस लिंक से app इंस्टॉल करने पर उन्हें क्या फायदा मिलने वाला है।

अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल और उनके जवाब।

Q.1 SBI रेफरल कोड कैसे बनाएं?

Ans. SBI रेफरल कोड के लिए आपको एसबीआई योनो एप इंस्टॉल करना पड़ेगा।

Q.2 रेफरल कोड किसके लिए फायदेमंद है?

Ans. रेफरल कोड कंपनियां और यूजर दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि कंपनियों को नए यूजर मिलते हैं, जबकि रेफर करने वालों को कुछ धनराशि या कुछ सर्विसेज फ्री में मिलते हैं।

Q.3 क्या रेफरल कोड को हर जगह शेयर कर सकते हैं?

Ans. जी नहीं दोस्तों कुछ सोशल मीडिया जैसे कि व्हाट्सएप जहां आप किसी भी लिंक को कितना भी शेयर कर सकते हैं। लेकिन कुछ सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक जहा पर इस तरह के लिंक शेयर करने पर आपका अकाउंट ban किया जा सकता है।

सारांश

आसान भाषा में रेफरल कोड user-generated ट्रैकिंग कोड होता है, आशा करते हैं इस post को पढ़ने के बाद आपको रेफरल कोड क्या है और इससे जुड़ी सारी जानकारियां मिल गई होंगी। लेकिन यदि हमसे कोई जानकारी छूट गई है या आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हम जल्दी ही आपकी सहायता करेंगे। अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

धन्यवाद।

Leave a Comment